Pages

Friday, March 27, 2009

फक़त एक ख़बर का सवाल है...बाबा

आज मैं आपको न्यूज़ रूम में ले जाना चाहता हूं... गेस्ट एडिटर बनाकर। (सिर्फ अपने वेब पेज पन्ने का ही सही)। आपको दिनभर में से सिर्फ एक ख़बर तय करनी है... जो उस दिन की सबसे बड़ी ख़बर होगी... आपको सिर्फ और सिर्फ ख़बर बतानी है...टीआरपी या विज्ञापन की चिंता किये बग़ैर। आपकी सहूलियत के लिए क्रमवार कुछ बड़ी ख़बरें भी दे रहा हूं। आपको इनमें से सिर्फ और सिर्फ एक ख़बर बतानी है जो होगी सबसे ख़ास ख़बर। आप इनमें से किसी को भी ख़बर नहीं मानने के लिए भी स्वतंत्र हैं.. और कुछ नई ख़बर भी बता सकते हैं। हां, हम इसके लिए कोई ईनाम नहीं घोषित करने जा रहे हैं... ये ख़बरों को लेकर एक नई बहस शुरू करने का तरीका है। इससे खुद मुझे भी ख़बरों को लेकर अपनी समझ बनाने का मौक़ा मिलेगा। धन्यवाद।

1. नया पैंतराः चुनावों में राममंदिर मुद्दे को भुनाने में विफल रही बीजेपी वरुण गांधी के भड़काऊ भाषण विवाद को अपना नया पैंतरा बनाने जा रही है। बीजेपी इसबार वरुण मुद्दे के बहाने हिंदू कार्ड खेलने की कोशिश करेगी। वरुण गांधी ने अपनी अग्रिम जमानत की याचिका वापस ले ली है। वरुण को किसी भी समय ग़िरफ़्तार किया जा सकता है। बीजेपी वरुण की ग़िरफ्तारी को भी चुनावों में भुनाने की ताक में है।

2. इस्तीफ़ाः गुजरात की समाज कल्याण मंत्री रहीं मायाबेन कोडनानी ने एसआईटी के सामने समर्पण सरेंडर कर दिया है। मायाबेन नरोडा पाटिया दंगों की आरोपी हैं। 2002 में गुजरात दंगों के दौरान नरोडा पाटिया में हिंसा भड़की थी जिसमें 83 लोग मारे गए थे। मायाबेन उस वक्त यहां की विधायक थीं और उनपर दंगों के दौरान खुद ही दंगाइयों के नेतृत्व करने का आरोप है। अदालत ने उनकी अग्रिम याचिका को खारिज कर दिया।

3. पाक़िस्तान में धमाकाः पाक़िस्तान के ख़ैबर के पास एक मस्जिद पर हुए आत्मघाती हमले में 80 से अधिक लोगों की मौत हो गई है। हमले में हताहतों की संख्या बढ़ने की आशंका जताई जा रही है।

4. स्विस बैंकः स्विस बैंक के इस खुलासे ने भारत के चुनावी मुद्दे को गर्मा दिया है जिसमें बताया गया था कि स्विस बैंक में भारतीयों के 72 हजार अस्सी हजार करोड़ जमा हैं। जेडीयू नेता शरद यादव का कहना है कि ये धनराशि भारत लाई जानी चाहिए... अन्यथा इसे सरकार के ख़िलाफ चुनावी मुद्दा बनाया जाएगा।

5. बैकफुट परः माही की अगुवाई में लगातार नई बुलंदियां छू रही टीम इंडिया की तात्कालिक कमान वीरेंद्र सहवाग के हाथों आते ही बैक फुट पर आ गई है। नेपियर टेस्ट में पहले तो टीम इंडिया के गेंदबाजों ने खूब रन लुटाए और अब भारतीय बल्लेबाज भी घुटनों के बल पर आते दिख रहे हैं।

1 comment:

दिनेशराय द्विवेदी Dineshrai Dwivedi said...

सभी खबरें रूटीन हैं,कोई भी खास नहीं।